3.59 करोड़ रुपए में बिकी भेड़, वजह जानकार आप भी चौंक जाएंगे

नई दिल्ली : आपने लाखों रुपयों में भेड़ों को खरीदने और बेचने की खबर तो सुनी होगी. क्या आपको पता है दुनिया की सबसे महंगी भेड़ कौन सी है. उसे कितने रूपयों में बेचा गया है. आखिर इस भेड़ में ऐसा क्या है जिसकी वजह से इसकी कीमत करोड़ों रुपयों में है. इस भेड़ का नाम है डबल डायमंड. स्कॉटलैंड के लानार्क में पिछले हफ्ते एक नीलामी का आयोजन किया गया. इसमें डबल डायमंड भेड़ भी आई थी. इसकी नीलामी 13 हजार डॉलर यानी 9.53 लाख रुपयों से शुरु हुई. जो खत्म हुई 4.90 लाख अमेरिकी डॉलर पर यानी 3.59 करोड़ रुपये. ये खबर देखते-देखते लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गया.



डबल डायमंड भेड़ को तीन अलग-अलग फार्म्स ने मिलकर खरीदा है. यानी ये तीनों फार्म्स में जाकर रहेगी. इसे जीतने वाले तीन बिडर्स में से एक जेफ आइकेन ने कहा कि हर बिजनेस की तरह घोड़े की रेस और मवेशी के व्यापार में भी काफी कीमत लगानी पड़ती है. इस टेक्सेल भेड़ की मांग बहुत ज्यादा है.

डबल डायमंड एक टेक्सेल प्रजाति की भेड़ है. हॉलैंड में टेक्सेल भेड़ों को पाला जाता है. टेक्सेल शीप सोसाइटी के अनुसार कसाइयों के बीच इस भेड़ के मांस की काफी ज्यादा मांग रहती है. इससे पहले सबसे ज्यादा कीमत में बिकने वाली इसी प्रजाति का भेड़ को 2.24 करोड़ रुपयों में खरीदा गया था. ये साल 2009 की बात है. टेक्सेल भेड़ से निकलने वाली ऊन की मांग फैशन इंडस्ट्री में बहुत ज्यादा है. इसके अलावा इस भेड़ के मांस की डिमांड यूरोप, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और न्यूजीलैंड में बहुत ज्यादा है. पहले इसके बाल निकालकर उसका ऊन और कपड़ा बनाया जाता है. और फिर, इसे स्लॉटर हाउस में भेजकर कटवा दिया जाता है, ताकि इसका मांस एक्सपोर्ट किया जा सके. टेक्सेल भेड़ की सबसे खास बात है उसके बाल का वजन है. ये भेड़ 3.5 किलोग्राम से 5.5 किलोग्राम तक बाल देते हैं. जिनसे ऊन और कपड़े बनते हैं. इसके मांस से बनने वाले लैंब डेलीकेसीस को दुनिया भर में पसंद किया जाता है.

Previous Post Next Post