बिहार चुनाव: 9 नवंबर जेल से छूटेंगे लालू जी और 10 को बनेगी राजद की सरकार, पहली कैबिनेट में 10 लाख को देंगे रोजगार- तेजस्वी


बिहार विधानसभा चुनाव 2020 पहले चरण चुनाव प्रचार के लिए नेता प्रतिपक्ष व मुख्यमंत्री के उम्मीदवार तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) और उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) संदेश सीट पर राजद प्रत्याशी विधायक अरुण यादव की पत्नी किरण देवी की जनसभा को संबोधित करने के लिए पहुंचे थे. इस दौरान तेजस्वी ने सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के साथ ही केंद्र सरकार को भी अपने निशाने पर लिया.

 तेजस्वी यादव ने कहा कि इस बार आर या पार की लड़ाई है. सूबे की सबसे बड़ी समस्या है बेरोजगारी है. बिहार में 46.6 फीसदी बेरोजगारी देश में सबसे ज्यादा है. तेजस्वी ने कहा कि ठीक 10 तरीख को रिजल्ट आएगा, आप लोगों का आशीर्वाद मिलेगा. पहली कैबिनेट में 10 लाख नौजवानों को रोजगार देने का फैसला होागा. सभी विभागों में कई पदों की पद खाली हैं.

साथ ही तेजस्वी ने कहा 5 साल मौका मिला 60-60 घोटाले हुए. बिहार में कहीं भी कोई काम घूस के बिना नहीं होता है. बिहार अपराध के मामले में अव्वल नम्बर पर चला गया है. 15 साल से नीतीश जी डबल इंजन की सरकार है, 15 सालों में करीबी नही मिटाया, बेरोजगारी नहीं मिटाया, पलायन नहीं रोक पाए. एक सुई की कारखाना नहीं लगाए, शिक्षा और चिकित्सा व्यवस्था पूरी तरीके से चौपट है. जो इंसान रोजगार नहीं दे सकता वो आने वाले 5 सालों में भी कुछ नहीं कर सकता.

तेजस्वी ने चुटकी लेते हुए चर्चित गाने को बोलते हुए का कहा कि बिहार में का बा... बिहार में बेरोजगारी बा, भुखमरी बा, लाचारी बा, बेबसी बा, ना उद्योग बा, ना कारखाना बा, बाढ़ बा, जलजमाव बा, चमकी बा यही तो है बिहार में. कोरोना महामारी में इनलोगों ने लॉकडाउन कर दिया,अब चुनाव हो रहा है. 40 लाख से ज्यादा मजदूर बिहार आना चाहते थे पर पल्टू चाचा ने कहा कि जो जहां है वो वहां रहे बिहार में आने नहीं दिया जाएगा. हजारों लोग 1500 किलोमीटर से ज्यादा चल कर बिहार आए.

बिहार में बाढ़ आयी, कोरोना आया लेकिन बिहार के मुख्यमंत्री 145 दिन घर से नहीं निकले. मजदूर रोते रह गए, गिड़गिड़ाते रह गए पर नीतीश जी नहीं सुने. मजदूर मजबूर होकर मजदूर पैदल वापस आए. हमलोगों के हल्ला करने पर दिखाने के लिए नीतीश जी ने ट्रेन चलवाया. जो दुख के घड़ी में मजदूर घर आना चाह रहे थे तब हमारी सरकार ने मुंह फेर लिया. जो दुख की घड़ी में काम ना आए उस सरकार का क्या काम.

तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश जी अब थक चुके हैं. अब उनसे बिहार नहीं चलने वाला. मेरा DNA शुद्ध है गड़बड़ नहीं है. कड़े के बा, लड़े के बा, जीते के बा. हम नौजवान हैं नई सोच की सरकार चाहिए. आपको वैसी सरकार चाहिए जीता किसी के साथ, विवाह किया किसी और के साथ. तेजस्वी ने कहा कि हमारी सरकार आने पर नियोजित शिक्षकों को समान काम, समान वेतन देने का काम करेंगे.

Previous Post Next Post