Hosted: बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए कांग्रेस ने दूसरे चरण के 24 उम्मीदवारों का नाम तय कर दिए है. अधिकतर प्रत्याशियों को सिम्बल भी दे दिया है. रात सवा 11 बजे प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा दोनों बिहार सह प्रभारियों अजय कपूर और वीरेन्द्र राठौर के साथ पटना पहुंचे और प्रत्याशियों को सिंबल बांटा.

कांग्रेस पार्टी ने दूसरे चरण में 24 सीटों में से 12 पर सवर्णों को टिकट दिया है. इसके अलावा पार्टी की छवी को ध्यान में रखते हुए कुछ अन्य जातियों को भी शामिल किया है. कांग्रेस ने 12 सवर्णों में 6 ब्राह्मण, 4 भूमिहार, 1 राजपूत, 1 कायस्थ उम्मीदवार खड़ा किया है. वहीं अनुसूचित जाति (एससी) से भी चार प्रत्याशियों को टिकट दी है. पार्टी ने अति पिछड़ा वर्ग से 2 और 2 यादव व 1 कुर्मी प्रत्याशी को मैदान में उतारा है.

परिवारवाद से बचती कांग्रेस, 24 में से मात्र एक प्रत्याशी राजनितिक परिवार से

महागठबंधन में शामिल कांग्रेस के कोटे में कुल 70 सीटें आई है. पार्टी को पहले चरण में 21, दूसरे में 25 और तीसरे में 24 सीटें मिली हैं. तीसरे चरण में मुजफ्फरपुर से बिजेन्द्र चौधरी और बिहारीगंज से बुधवार को कांग्रेस का

दामन थामने वाली शरद यादव की पुत्री सुभाषिनी को पार्टी ने टिकट दिया है तो दूसरे चरण में शत्रुघ्न सिन्हा के पुत्र लव सिन्हा को बांकीपुर से उम्मीदवार बनाया है. दूसरे चरण में कुचायकोट से बाहुबली काली पांडेय को उम्मीदवार बनाया गया है. राजीव गांधी की हत्या के बाद उन्होंने कांग्रेस छोड़ दिया हटा. श्री पांडेय की बुधवार को दोबारा पार्टी में वापसी हो गई. दूसरे चरण के सीटिंग सभी विधायकों को एक बार फिर से पार्टी ने टिकट दे दिया है. रोसड़ा के विधायक डॉ. अशोक राम कुशेश्वरस्थान, बेगूसराय से अमिता भूषण, भागलपुर से अजित शर्मा और बेतिया से मदन मोहन तिवारी के नाम पर पहले ही मुहर लग गई है.

वहीं दूसरे चरण के लिए लालगंज से राकेश कुमार ऊर्फ पप्पू सिंह और राजापाकर से प्रतिमा सिंह उम्मीदवार है. हालाँकि वैशाली से वीणा शाही का नाम अंतिम समय में कट गया और वहां से संजीव सिंह के नाम पर मुहर लगी है. इसके अलावा नालंदा से गुंजन पटेल, बेलदौर से चंदन यादव, खगड़िया से छत्रपति यादव, पारू से अनुनय कुमार सिंह और हरनौत से रवि गोल्डन को सिंबल दिया गया है.
Previous Post Next Post