बिहार चुनाव में बड़ा बदलाव: ऐसे होगा पूरा चुनाव, इस ईवीएम से होगी वोटिंग

Hosted : अगले माह होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में पहले से स्लिम और स्मार्ट ईवीएम (Slim and Smart EVM) का इस्तेमाल होगा। साथ ही EVM का वजन और आकार भी घटाया गया है, लेकिन इसकी क्षमता बढ़ गई है। आपको बताते चले कि पुरानी EVM अधिकतम 64 उम्मीदवारों का डाटा संभालती थी । लेकिन अब जो नए वाली EVM एक सीयू (कंट्रोल यूनिट) से अधिकतम चार बीयू (बैलेट यूनिट) कनेक्ट हो सकती थी। नई एम थ्री ईवीएम के सीयू से 24 बीयू कनेक्ट हो सकेगी। इसकी क्षमता 384 उम्मीदवारों का डाटा संभालने की है।


तो पहले मुताबिक वहीं मतदान के दौरान ईवीएम में खराबी की शिकायत भी इस बार कम होगी। ईवीएम, बैलेट यूनिट और वीवीपैट को जोड़ने वाले सभी केबल अलग-अलग रंग के बनाए गए हैं। रंग मिलाकर इन्हें आसानी से कनेक्ट किया जा सकता है। तीनों मशीन में जो गड़बड़ी होगी उसे भी यह एम-3 ईवीएम खोजकर प्रदर्शित करेगी। पहले पूरा सेट बदलना पड़ता था, लेकिन अब जिस यूनिट में खराबी होगी या कनेक्शन गलत होगा उसे ही बदलना पड़ेगा।

साथ ही EVM की बैलेट यूनिट में नई तकनीक का उपयोग किया गया है। कंट्रोल यूनिट से जुड़कर जैसे ही बैलेट यूनिट ऑन होगी, यह कुछ ही क्षण में सभी उम्मीदवारों का नाम, चुनाव चिह्न और क्रमांक रीड कर लेगी। मतदाता अपने उम्मीदवार का नाम, क्रमांक, चुनाव चिह्न अथवा ब्रेल लिपि के आधार पर पहचान कर बटन दबा सकते हैं। बैलेट यूनिट के सटे वीवीपैट पर जिस उम्मीदवार के पक्ष में वोट पड़ा वह नाम सात सेकंड के लिए प्रदर्शित होगा।

दृष्टि बाधित मतदाताओं (Blind Voters) के लिए इस बार बैलेट यूनिट पर अलग से ब्रेल लिपि के डमी बैलेट पेपर की जरूरत नहीं पड़ेगी। चुनाव आयोग से उपलब्ध कराई गई नई बैलेट यूनिट में इस बार ब्रेल लिपि पहले से उपलब्ध है। दृष्टिबाधित वोटर सीधे बैलेट यूनिट के दाईं ओर ब्रेल लिपि टटोलकर सही क्रमांक वाला बटन दबा देंगे। इस प्रक्रिया से मतदान में काफी समय की बचत भी होगी।

Previous Post Next Post