Hosted : बिहरा विधानसभा चुनाव को लेकर प्रचार अभियान तेज हो गया है। दूसरे चरण के चुनाव के लिए नामांकन का दौर जारी है। मंगलवार को पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और राजद नेता तेजप्रताप यादव ने हसनपुर से पर्चा दाखिल कर दिया है। वहीं, आज नेता प्रतिपक्ष मुख्यमंत्री प्रत्याशी तेजस्वी यादव राघोपुर से पर्चा दाखिल करेंगे।

इस सब के बीच दल-बदल का खेल भी जारी है। रामविलास पासवान के करीबी रहे बाहुबली काली पांडेय ने एलजेपी का दामन छोड़ कर कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। वह कांग्रेस में शामिल होकर गोपालगंज के कुचायकोट से कांग्रेस के सिंबल पर चुनावी मैदान में आ गए हैं।

ज्ञात हो कि चिराग पासवान के एनडीए से अलग होने के फैसले का वह विरोध कर रहे थे। लेकिन चिराग अपने फैसले पर कायम थे 143 सीटों पर लड़ने का फैसला किया। जिसके बाद वो कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। काली पांडेय के बारे में बताया जाता है कि वह रामविलास पासवान के सबसे करीबी थे। लेकिन रामविलास के निधन के तुरंत बाद उन्होंने लोजपा छोड़ने का फैसला ले लिया।

बता दें कि गोपालगंज से काली पांडेय 1984 में पहली बार निर्दलीय चुनाव लड़कर सांसद बने थे। 2003 में वह एलजेपी में शामिल हो गए। तब से वह रामविलास के करीबी माने जाते थे। बता दें कि काली पांडेय उत्तर बिहार केबड़े बाहुबली नेता रह चुके हैं। एक जमाने में उनकी तूती बोलती थी। उनके उपर एक फिल्म भी बन चुकी है। जिसका नाम था प्रतिघात। यह फिल्म 1987 में आई थी। उन पर 1989 में अपने प्रतिदंद्धी नगीना राय पर बम से हमला करने का आरोप भी लगा था।

Hosted: The campaign for the Bihra assembly election has intensified. The nomination round for the second phase elections is going on. On Tuesday, former Health Minister and RJD leader Tej Pratap Yadav has filed the form from Hasanpur. At the same time, today the Leader of Opposition will file a letter from Chief Minister candidate Tejashwi Yadav Raghopur.

Amidst all this, the game of team-change also continues. Bahubali Kali Pandey, who is close to Ram Vilas Paswan, has left the LJP and joined the Congress. He joined the Congress and came to the electoral fray from Kuchayakot in Gopalganj on the Congress symbol.

It may be known that he was opposing Chirag Paswan's decision to separate from NDA. But Chirag stood by his decision and decided to contest 143 seats. After which he has joined the Congress. Kali Pandey is said to be the closest to Ram Vilas Paswan. But soon after the demise of Ram Vilas, he decided to leave LJP.

Let us tell that Kali Pandey became an MP from Gopalganj in 1984 by contesting as an independent. In 2003 he joined LJP. Since then he was considered close to Ram Vilas. Please tell that Kali Pandey has been a large Bahubali leader of North Bihar. Once upon a time he used to speak. A film has also been made on him. Which was called rebuff. The film was released in 1987. He was also accused of bombing his rival Nagina Rai in 1989 with a bomb.

Previous Post Next Post